Sam Pitroda का बयान, काले रंग वाले अफ्रीकी, पूर्वोत्तर वाले चीनी

इससे पहले विरासत टैक्स के मुद्दे पर कांग्रेस को मुश्किल में डाल चुके हैं सैम पित्रोदा

80

राहुल गांधी के गुरु इंडियन ओवरसीज कांग्रेस के अध्यक्ष Sam Pitroda ने एक बार जहर उगला है। लोकसभा चुनाव के बीच कांग्रेस के लिए मुश्किल खड़ी करते हुए सैम पित्रोदा ने चमड़ी के रंग के आधार पर भारतीयों का अंतरराष्ट्रीयकरण कर दिया है। सैम पित्रोदा इससे पहले भी विरासत टैक्स के मामले में अपने बयान से कांग्रेस को मुश्किल में डाल चुके हैं।
Muslim Reservation : मुसलमानों की दीवानी कांग्रेस, भारत को इस्लामिक राष्ट्र बनाकर ही मानेगी

काले रंग वाले दक्षिण भारतीय अफ्रीकी

कांग्रेस नेता सैम पित्रोदा ने पिछले दिनों संसाधनों के पुनर्वितरण और विरासत टैक्स की बात कहकर बीच चुनाव में नया मुद्दा खड़ा कर दिया था। उनके बयान को पीएम मोदी ने भी हाथोंहाथ लेते हुए कांग्रेस पर जमकर हमला बोला था। अब उन्होंने फिर से ऐसी बात कह दी है, जिस पर वह घिर सकते हैं। सैम पित्रोदा ने एक मीडिया हाउस से बात करते हुए भारतीयों के रंग-रूप को लेकर आपत्तिजनक टिप्पणी कर दी। उन्होंने कहा कि पूर्वोत्तर भारत कै लोग चीनी जैसे दिखते हैं। दक्षिण भारतीय काले हैं और अफ्रीकी जैसे दिखते हैं। उत्तर भारतीय कुछ हद तक गोरे हैं। भारत की विविधता की बात करते हुए की गई सैम की ऐसी टिप्पणी नया विवाद खड़ा कर सकती है।

पहले भी कांग्रेस को विवादों में डाल चुके हैं सैम पित्रोदा

सैम पित्रोदा इससे पहले भी अपने बयानों से कांग्रेस को मुश्किल में डाल चुके हैं। सैम पित्रोदा ने इससे पूर्व कहा था कि यूएस के कई राज्यों में विरासत टैक्स लागू हैं। इसमें किसी व्यक्ति की मृत्यु के बाद उसकी संपत्ति का 45 से 55 प्रतिशत संपत्ति सरकार ले लेती है और उसे अपने हिसाब से जरूरतमंदों को बांट देती है। उनके इस बयान को राहुल गांधी के बयान से जोड़ कर देखा गया । राहुल गांधी ने तेलंगाना में कहा था कि अगर वह सत्ता में आयेंगे तो लोगों की संपत्ति का सर्वेक्षण कराएंगे। इसके बाद संपत्ति का समान रूप से वितरण कर देंगे। 

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने कांग्रेस को सैम पित्रोदा के रंग वाले बयान पर जमकर घेरा। प्रधानमंत्री ने कहा कि आज वह बहुत आक्रोशित हैं। उन्हें अब पता चल रहा है कि कांग्रेस राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू का आखिर क्यों विरोध कर रही थी। आदिवासी समुदाय से आने वाली राष्ट्रपति का रंग काला है। इसलिए कांग्रेस उनके पीछे पड़ी रही है।

कौन है सैम पित्रोदा – who is sam pitroda

सैम पित्रोदा एक भारतीय-अमेरिकी इंजीनियर, आविष्कारक, उद्यमी और नीति निर्माता हैं। वह दूरसंचार और सूचना प्रौद्योगिकी के क्षेत्र में एक प्रसिद्ध नाम रहे हैं। 1980 के दशक में भारत के टेलीकॉम क्रांति में पित्रोदा ने महत्वपूर्ण भूमिका निभाई थी। वह उस समय भारत के प्रधानमंत्री राजीव गांधी के सलाहकार के रूप में कार्य कर रहे थे। उन्हें अक्सर “भारतीय दूरसंचार क्रांति का पिता” कहा जाता है।

दूरसंचार के अलावा, पित्रोदा ने ग्रामीण विकास, गरीबी निवारण, और प्रौद्योगिकी नीति सहित विभिन्न अन्य क्षेत्रों में भी राजीव गांधी सरकार व यूपीए सरकार के समय में योजना बनाई है।

इसके अतिरिक्त सैम पित्रोदा कांग्रेस से भी जुड़े हैं। वह कांग्रेस की गैर भारतीय शाखा इंडियन ओवरसीज कांग्रेस के अध्यक्ष भी हैं।

Muslim Reservation : MY समीकरण में यादव बने रहे चारा, मुस्लिम “भाई” बन लेते रहे मजे

Leave A Reply

Your email address will not be published.

×

Hello!

Click one of our contacts below to chat on WhatsApp

× Hello!